Thursday, 1 November 2012

करवा चौथ पर हाइकू



( १ )
चाँद सलोना ,
चमक गगन में ,
घर भी आया .
********************
( २ )
वह मुस्काई ,
नभ खिली चांदनी ,
घर मुस्काया .
********************
( ३ )
भाल पे बिंदु ,
देख चाँद लजाया ,
घर हर्षाया.
********************
( ४ )
चन्दा-मुख पे ,
लट्टू नन्द किशोर ,
घर पे आया.
*******************
( ५ )
चाँद-चांदनी ,
जुग-जुग रहियो ,
घर ने गाया.
*******************

1 comment: